कोरोना जैसी आफ़त में भी भ्रष्टाचार चरम पर: आप

पटना। आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश अध्यक्ष सुशील कुमार सिंह ने बिहार के नीतीश सरकार पर आरोप लगाया कि कोरोना महामारी से निपटने को लेकर जो भी दावे किए जा रहे हैं, वे सभी हवा हवाई हैं।

आम आदमी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष श्री सुशील कुमार सिंह ने कई करोना सेंटर के निरीक्षण में पाया कि जो सुविधाएं और राहत के आंकड़े बिहार सरकार की तरफ से जारी किए गए हैं ,सिर्फ दिग्भ्रमित करने वाले हैं। निरीक्षण के दौरान उन्होंने बिहार के एक क्वॉरेंटाइन सेंटर पर पाया कि मरीजों को सोने के लिए एक बेड की भी व्यवस्था भी नहीं है। स्कूल में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर पर बेंचो को जोड़कर सोने की व्यवस्था की गई है । उन्होंने कहा कि अव्यवस्थित जगह पर खाना बन रहा है तथा अत्यंत ही गंदे शौचालय की व्यवस्था है। सरकार की तरफ से जारी किए गए कोरोना के मरीजों के खाने के मेन्यू को पूरी तरह दरकिनार करते हुए सिर्फ खिचड़ी ही परोसी जा रही है।

प्रदेश अध्यक्ष सुशील सिंह ने आरोप लगाया कि कोरोना महामारी के दौरान भी बिहार में भ्रष्टाचार चरम पर है और हर तरफ लूट मची हुई है। सरकार के संरक्षण में सभी ने कमाने का अलग-अलग जरिया तलाश लिया है। उन्होंने सारण जिले के मसरख प्रखंड के अंतर्गत एक कोरोना सेंटर का निरीक्षण के बाद कहा कि हद तो यह है कि सेंटर पर सेंटर इंचार्ज भी नदारद हैं। कुल 5 लोगों की ड्यूटी है, जिसमें खाना बनाने वाले तथा सफाईकर्मी भी शामिल हैं। आश्चर्य की बात तो यह है कि जब कोरोना का संक्रमण कम था तब इस सेंटर पर चार व्यक्ति थे और आज जब कोरोना प्रचंड रूप ले चुका है तब इस सेंटर पर एक भी व्यक्ति नहीं है। यह है बिहार के क्वॉरेंटाइन सेंटर की वास्तविकता!

उन्होंने ने कहा कि ‘आम आदमी पार्टी’ इसे गंभीरता से लेती है तथा सरकार से यह मांग करती है कि सभी सेंटरों की जांच कराकर वास्तविक रिपोर्ट जनता के समक्ष पेश करे। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ ऐसे भी क्वॉरेंटाइन सेंटर हैं जहां दिन में लोग रजिस्टर पर दस्तखत करने चले आते हैं और रात में अपने घरों में सोते हैं। यह तो कोरोना महामारी से निपटने को लेकर मजाक नहीं तो क्या है ?

Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply