जदयू ने तलाक बिला का समर्थन किया हैः बेदारी कारवां

ट्रीपल तलाक बिल पर भाजपा के साथ जदयू का संघी चेहरा हुआ बेनकाबः नजरे आलम
नजर आलम, अध्यक्ष
बेदारी कारवाँ
दरभंगा – ( प्रेस विज्ञप्ति) भाजपा सरकार लगातार मुस्लिम महिलाओं के आजादी और हुकूक की बातें कर रही है। तीन तलाक से छुटकारा दिलाने की बातें कर रही है और आज इसपर अपनी मर्जी से फर्जी तरीके से कानून भी बना डाला है। इस बील के द्वारा सीधे तौर पर मुस्लिम नौजवानों को कानून के शिकंजे में उलझाने, जेल में डालने का सियासी हथकंडा अपनाया गया है। इसमें मुस्लिम औरतों के हुकूक की कोई बातें नहीं की गई है। होना तो यह चाहिए था कि जिस महिला को तलाक पड़ जाए आप उसके पूर्नवास की बातें करते। लेकिन भाजपा सरकार ने ऐसा नहीं किया। इससे जाहिर होता है कि भाजपा का संघी चेहरा सिर्फ मुसलमानों के खिलाफ ही नहीं इसलाम के खिलाफ भी जाता है। जिसका खमियाजा भाजपा समेत आने वाले समय में पूरी कौम को भुगतना पड़ेगा। उक्त बातें आॅल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवाँ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नजरे आलम ने मिडिया से बातें करते हुए कही। श्री आलम ने आगे कहा कि हम भाजपाईयों यह बता देना चाहते हैं कि इसलाम किसी बैसाखी का मोहताज नहीं इसके अपने कानून हैं जो हर कौम-व-मिल्लत से उपर पूरी दुनिया में एक समान है। इसलामी कानून सरकारें आने, सरकारें जानें, मूल्क टूटने, मूल्क बनने से प्रभावित नहीं होता। ये तलाक बिल पूर्णतः फर्जी है। श्री आलम ने अंत में जदयू0 पर निशाना साधते हुए कहा कि जदयू0 ने भी लगातार फर्जी तरीके से इस बिल का विरोध कर मुसलमानों को ठगने का काम किया हैं। जदयू0 इस मामले में कतई ईमानदार नहीं दिखी और राज्यसभा से बाहर होकर एक साजिश के तहत मुसलमानों को अंधकार में रखकर इस बिल का समर्थन किया है। जिसका परिणाम इसे आने वाले विधानसभा चुनाव में देखने को मिलेगा।
Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply