शिशु की हत्या मामले में दरभंगा मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पीटल के अधीक्षक पर हत्या का का मुकदमा दर्ज करे जिला प्रशासन : नजरे आलम


दरभंगा- (प्रेस विज्ञप्ति)… आज दिनांक- 30 अक्टूबर, 2018 को आॅल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवाँ के अध्यक्ष नजरे आलम एवं इंसाफ मंच के राज्य उपाध्यक्ष नेयाज अहमद ने संयुक्त रूप से प्रेस ब्यान जारी कर दुख जताते हुए कहा कि दरभंगा मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पीटल में 9 दिनों से आई.सी.यु. में भर्ती मासूम की चूहे के काटने से हुई मौत मेडिकल विभाग के लिए ही शर्मनाक नहीं बल्कि सरकार और जिला प्रशासन के लिए भी शर्म की बात है। लगातार दरभंगा मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पीटल में मरीजों की जान से खेला जाता है। लगातार दरभंगा मेडिकल काॅलेज के कर्मचारी, डाक्टर और वहाँ के व्यवस्थापक की लापरवाही से जनता पूरी तरह तरस्त हो चुकी है। सरकार और जिला प्रशासन मुक दर्शक बनी बैठी है। पूरा मेडिकल काॅलेज एवं हस्पताल माफियाओं के कब्जे में है। दवा से लेकर जाँच एवं बेड तक की दलाली चर्म पर है। मेडिकल अधीक्षक और प्राचार्य इसमें भागेदारी निभाते हैं। दलालों के चंगुल से अगर समय रहते मेडिकल कैम्पस को निजात नहीं दिलाया गया तो संयुक्त रूप से दोनों संगठन आन्दोलन करने को मजबूर होगा। दरभंगा जिला प्रशासन से हमलोग मांग करते हैं कि जो मासूम बच्चे को आई.सी.यु. में चुहे ने काटकर मार दिया उसके परिजन को सरकार की ओर से हर संभव सहायता पहुँचाई जाए साथ ही जिन लोगों की लापरवाही के कारण बच्चे की मृत्यु हुई है उसपर और मेडिकल अधीक्षक पर हत्या का मुकदमा अविलंब दर्ज करे जिला प्रशासन। बच्चे की मृत्यु पर परिजनों ने भी साफ तौर पर आरोप लगाया है कि दरभंगा मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पीटल के शिशु विभाग के लोगों की लापरवाही के कारण बच्चे की मृत्यु हुई और लगातार मेडिकल हाॅस्पीटल के लोगों ने बच्चे और उसके परिजन के साथ लापरवाही भी बर्ती है यही कारण है कि उसके मासूम बच्चे की चूहे के काटने से मृत्या हो गई जो बहुत ही शर्मनाक मामला है इस घटना से पूरा दरभंगा एक बार फिर शर्मसार हुआ है साथ ही मानवता भी शर्मसार हुई है। जिला प्रशासन इसे गंभीड़ता पूर्वक लेते हुए लापरवाही बरतने वालों पर अविलंब कानूनी कार्रवाई करे।

Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply