अल-खिदमत फाउंडेशन ने चकमक्का के जरुरतमंदों के बीच राहत सामग्री पैकेट का वितरण किया

वजीह अहमद तसौवुर के कलम से ✍️
कोरोना के कारण लाॅकडाउन और लाॅकडाउन की वजह से आर्थिक तंगी से जूझते लोग। वैसे वैसे घरों के चुल्हे ठंडे हो रहे हैं जो कल तक दूसरों के चूल्हे का इंतजाम करते थे। इसी को ध्यान में रखते हुए सिमरीबख्तियारपुर की अल-खिदमत फाउंडेशन लगातार सिमरीबख्तियारपुर अनुमंडल के तीनों प्रखंडों के गांव गांव घर घर जाकर जरुरतमंदों के बीच राहत सामग्री पैकेट का वितरण कर रही है।
    अल_खिदमत_फाउंडेशन सिमरीबख्तियारपुर की टीम इसी के अंतर्गत सोमवार को सिमरीबख्तियारपुर प्रखंड के चकमक्का के लगभग 70 जरूरतमंद  लोगों के बीच राहत सामग्री पैकेट का वितरण किया । सहरसा जिला के पोजिटिव आये लोगों में एक का संबंध इसी गांव से रहने के कारण फिलहाल इस गांव को सील कर दिया गया है इस कारण यहां लोग काफी परेशानी झेल रहे हैं और उनके चुल्हे ठंडे होने लगे हैं यह पता चलते ही अल-खिदमत फाउंडेशन की टीम प्राथमिकता के आधार पर इस गांव में राहत सामग्री पैकेट वितरण का फैसला लिया और गांव के ही समाजसेवी रफी आलम और पत्रकार व समाजसेवी शाहनवाज बद्र, मौलाना आदिल नदवी व हाजी नईम उददीन से संपर्क कर टीम चकमक्का पहुंच कर जरूरतमंदों के बीच राहत सामग्री पैकेट का वितरण किया ।
   रोजा का अंतिम सप्ताह और तेज धूप के बावजूद जरूरतमंद लोगों के लिए मदद का हाथ बढा अल-खिदमत की टीम काफी प्रशंसनीय कार्य  अंजाम दे रही है जिसकी काफी सराहना हो रही है।
     मौलाना मुजाहिर उल हक, हाफिज मुुमताज रहमानी, वजीह अहमद तसौवुर,  साजीद एकबाल के नेतृत्व में टीम के नौजवानों ने पुरे जोश व जज्बे के साथ  जरूरतमंदों तक पहुंच कर राहत सामग्री पैकेट का वितरण कर उनके दर्द को कम करने का प्रयास किया ।युवा टीम में अबु होजैफा, यासिर आराफात, समीर अब्बास, मो0 हसन, हसरत अली, अल्तमस हुसैन , सद्दाम उमर, जमील अहमद, अफसर आलम, अख्तर सिद्दीकी, इमरान आलम, अली अकबर, सरफराज आलम, शफी अहमद, उमर फारूक   शामिल रहे।इस अवसर पर मौलाना मुजाहिर उल हक ने कोरोना वायरस से दुनिया विशेषकर भारत से समाप्ति हेतु दुआएं की। अपने संबोधन में पत्रकार शाहनवाज बद्र कासमी ने कहा कि अल-खिदमत फाउंडेशन एक आवाज पर जरुरतमंदों तक पहुंच कर जो खिदमत का काम अंजाम दे रही है उसकी ये सेवा कभी भुलाया नहीं जा सकता है। इस अवसर पर संरक्षक मुमताज रहमानी ने कहा कि कि उनके टीम का मिशन जरूरतमंदों तक पहुंच उनके आंसू पोंछना है और अल खिदमत की टीम पुरी मेहनत से अपने काम को अंजाम दे रही है।
वजीह अहमद तसौवुर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि अल-खिदमत फाउंडेशन लाॅकडाउन के इस विषम परिस्थितियों में बुझते चुल्ह को ठंडा नहीं होने देने के इरादे से काम कर रही है और अब तक एक हजार से अधिक परिवारों तक हमारी टीम पहुंची है और ये सेवा अभी निरंतर जारी रहेगा। साजीद एकबाल, अबु हुजैफा, यासिर अरफात और समीर अब्बास ने यकीन दिलाया कि जब तक लोगों की परेशानीयां खत्म नहीं हो जाती है उस वक्त तक राहत सामग्री पैकेट का वितरण लगातार जारी रहेगा।
Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply