कोरोना पर वार: प्रशासन, समाजिक संगठन तैयार

वजीह अहमद तसौवुर के कलम से ✍️

कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए जहां पूरे देश को लाॅकडाउन कर दिया है वहीं इस महामारी के भयावहता को देखते हुए सहरसा जिला प्रशासन भी सख्ती के मूड में आ गया है। वैसे तो सड़कों और मैदानों का चहल पहल विगत 22 मार्च से ही बंद है मगर बाजारों में थोड़ी बहुत भीड़ और आवश्यक सामानों की खरीदारी और दुकानदारों की जमाखोरी के कारण कालाबाजारी की वजह से कुछ अफरा-तफरी का माहौल रहता था मगर अब प्रशासन ने उस पर भी नकेल कसना शुरू कर दिया है। सवारी गाड़ी के आवा जाही पर रोक के साथ बिना जरूरत घूमने वालों पर पुलिस सख्ती के कारण अब कुछ हालात ठीक हैं। उधर जिला प्रशासन के द्वारा सहरसा रेलवे स्टेशन के पास स्थित सब्जी मंडी को सील करते हुए एमएलटी कालेज समेत विभिन्न बड़े मैदानों पर अस्थायी रुप से सब्जी मंडी लगवाने की व्यवस्था की जा रही है  जहां दूरी बना कर लोगों को  लाईन से खरीददारी करने की हिदायत दी गई है। इस बीच जिला प्रशासन के द्वारा जरूरतमंद लोगों तक रोजमर्रा के जरूरत की चीजें पहुंचाने के लिए भी पहल की जा रही है।

उधर सिमरीबख्तियारपुर के अलमदद फाउंडेशन समेत कुई समाजिक संगठनों ने भी लाॅक डाउन में गरीब मजदूरों और मजबूरों के परेशानीयों को देखते हुए उन तक जरूरत के सामान पहुंचाने हेतु कमर कसना शुरू कर दिया है। फिल हाल 14 अप्रेल तक एक तरफ जहां लोगों को घरों में कैद रह कर अपने परिवार, समाज और देश दुनिया को बचाने की चुनौती है वहीं प्रत्येक दिन मजदूरी कर, छोटे व्यापारी, रिक्शा ओटो चालक और मध्य परिवार के लोगों के सामने परिवार के गुजर बसर और खाने का मसला मुंह बाये खड़ा है जिसको प्रशासन और समाजिक संगठनों के द्वारा सहायता कर इनके समस्या को हल किया जा सकता है जिसके लिए आज से दोनों तरफ से प्रयास शुरू हो गया है।

इस बीच सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के फेनसाहा गांव के युवाओं ने ग्रीन फेनसाहा, क्लीन फेनसाहा अभियान के तहत फेनसाहा गांव के अंदर और गांव के बाहर साफ सफाई का अभियान चला कर कोरोना वायरस से लोगों को जागरूक करने के का काम किया और लोगों से घरों में रहने, घर, कपड़े को साफ रखने एक जगह बैठने से परहेज करने और सरकारी आदेश के पालन का लोगों को पाठ पढ़ाया।

Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply