न्याय के लिए उठने वाली आवाज को दबाने का प्रयास ना करे राज्य सरकारः नजरे आलम

न्याय के लिए उठने वाली आवाज को दबाने का प्रयास ना करे राज्य सरकारः नजरे आलम
माले व इंसाफ मंच के लोगों पर किया गया मुकदमा 24 घंटे के अंदर वापस ले दरभंगा पुलिसः बेदारी कारवाँ
नजरे आलम,
अध्यक्ष
बेदारी कारवाँ 
दरभंगा- (प्रेस विज्ञप्ति) – दरभंगा पुलिस अपनी नाकामी को छिपाने के लिए लगातार संगठन के लोगों पर मुकदमा दर्ज कर संगठन पर दबाव बनाने एवं न्याय के लिए उठने वाली आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है जिसमें वह कभी सफल नहीं हो पायगी। दरभंगा ही नहीं पूरे बिहार की पुलिस प्रशासन राज्य सरकार के बस में नहीं है ऐसा लगता है कि सुशासन बाबु पूरे बिहार पुलिस को संरक्षण देकर आतंक मचाने के लिए छोड़ दिया है। इधर कुछ वर्षों से जो भी संगठन जुल्म के खिलाफ आवाज बुलंद करता है उसे राज्य सरकार के संरक्षण से पुलिस प्रशासन दबाने का प्रयास कर रही है। बिहार पुलिस संगठन के जिम्मेदारों पर झूठा मुकदमा दर्ज कर संगठन के जिम्मेदारों को डराने की कोशिश कर रही है। पुलिस की इस हरकत से आम जनता में आक्रोष बढ़ता जा रहा है। अगर राज्य सरकार इस मामले में गंभीर नहीं हुई तो आने वाले चुनाव में परिणाम भुगतने को तैयार रहे। उक्त बातें आॅल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवाँ के अध्यक्ष श्री नजरे आलम ने प्रेस ब्यान में कही। श्री आलम ने आगे कहा कि पिछले दिनों सोभन के इलाके की एक महिला के हत्या मामले में माले एवं इंसाफ मंच के लोगों ने पुलिस प्रशासन पर हत्यारे की अविलंब गिरफतारी एवं पिड़ित परिवार को उचित मुआवजा दिलाने हेतु आन्दोलन किया था। आन्दोलन के बाद ही दरभंगा पुलिस हरकत में आई और हत्यारे की गिरफतारी सुनिश्चित हो सकी है। श्री आलम ने आगे कहा कि दरभंगा पुलिस अपनी नाकामी को छुपाने के लिए संगठन के दर्जनों लोगों पर मुकदमा दर्ज कर हत्या के मामले को दबाने का प्रयास कर रही है जिसकी बेदारी कारवाँ कड़ी निंदा करता है और 24 घंटे के अंदर दोनों संगठन के लोगों पर पुलिस की ओर से किया गया मुकदमा वापस लेने की मांग करता है। श्री आलम ने कहा कि बेदारी कारवाँ माले एवं इंसाफ मंच की ओर से जुल्म के खिलाफ और न्याय के लिए उठने वाली आवाज के साथ खड़ा है अगर इसे दबाने की कोशिश की गई तो बड़ा आन्दोलन के लिए दरभंगा प्रशासन तैयार रहे।
Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply