दावते इफतार से कायम होती है सामाजिक समरसताः फातमी/अता

*दावते इफतार से कायम होती है सामाजिक समरसताः फातमी/अता
*शमसे आलम पप्पु ने रोजेदारों का जमकर किया स्वागत
दरभंगा-(संवाददाता).. रमजान शरीफ के मुबारक मौके पर शुक्रवार को आल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवाँ की ओर से दावत-ए-इफतार का भव्य आयोजन किया गया। कारवाँ के राष्ट्रीय अध्यक्ष नजरे आलम की अध्यक्षता में उनके आवास भेरियाही में आयोजित दावत-ए-इफतार में रोजेदारों ने बड़ी संख्या में शिरकत की और रमजान की फजीलत पर चर्चा किया। पूर्व केंन्द्रीय मंत्री मो0 अली अशरफ फातमी ने कहा कि इंसान की तरबीयत और पाकीजगी के लिए अल्लाह ने रमजान बनाया है और यही माह-ए-रमजान की खासियत भी है।
बिहार राज्य खाद्य आयोग के पूर्व चेयरमैन अलहाज मो0 अताकरीम ने कहा कि रमजान के महीने में अल्लाह की खास रहमतें रोजेदारों पर होती है। वह अपने कर्म से प्यारे बंदों को पाक साफ कर देता है। कारवाँ अध्यक्ष के भाई शमस आलम पप्पु ने रोजेदारों का भव्य स्वागत किया। इस मौके पर राजद जिला अध्यक्ष रामनरेश यादव, पूर्व जिपस मो0 अखलाक अंसारी, उप-प्रमुख पति मो0 ज्याउल होदा छोटु, मुखिया संघ के अध्यक्ष फतेह अहमद, मुखिया मो0 इरशाद आलम (खरूआ), मुखिया अमजद अब्बास (बस्तवारा), जिपस प्रतिनिधि सुभंश कुमार यादव, नवीन सिंहा, शरफे आलम तमन्ना, जाहिद हुसैन, इकबाल शैदा, रजी अहमद, सैफुल इस्लाम, फारूक निजामी, जावेद परवेज, मो0 गुलरेज (लोजपा नेता), अमजद इकबाल, निसार अहमद, शहजाद मंजर, मो0 आरजु, हाफिज अबु शहमा, दीदार हुसैन चांद, अंजीत कुमार चैधरी, डा0 मंजूर आलम राईन (जद यू0 नेता), डा0 राहत अली, संदीप चैधरी, प्रिंस कर्ण, मयंक यादव (आईसा नेता), डा0 मंजर सुलेमान, डा0 अजहर सुलेमान, डाॅन बाॅस्को स्कूल के डायरेक्ट एसएचए आबदी, आरए एकेडमी के डायरेक्ट रजी अख्तर, पत्रकार सदरे आलम, इरफान अहमद पैदल, फिरदौस अली, मंसूर खुश्तर, डा0 इंतखाब हाशमी, हामिद हुसैन, असरारूलहक लाडले (भलुका), ई0 निशात करीम शौकत, सुलतान शमसी, नौशाद आलम (कांग्रेसी नेता), लोआम सरपंच हुमायूँ शैख, जकी अहमद, एहतेशाम, अब्दुल मालिक मुखिया (असराहा), मो0 अखलाक, मो0 इकबाल (खिरमा), मो0 नूरैन, मो0 भोला (रजौरा), ई0 इश्तयाक आलम,
बदरूलहोदा खान, अधिवक्ता बदरे आलम, डा0 आफताब आलम, डा0 वसी अहमद शमशाद, ई0 जिरवी (छतवन), राशिद कमाल (कारवाँ मधुबनी जिला अध्यक्ष), सादिक अनवर उस्मानी (सकरी), मो0 तौसीफ उर्फ राजा (मुखिया छछुआ), फिदा हुसैन भुट्टो कुरैशी, मो0 अरशुद्दीन दुलारे, मो0 गुड्डू, शमीम अहमद (मिलकीचक), अशरफ सुबहानी, जाहिद हुसैन, मो0 मोतिउर रहमान, मो0 हीरा, अब्दुल मोगनी, मो0 गुड्डू (जलवारा), सोमा खान (लहवार), कारी मो0 सईद जफर, मो0 गुफरान (करकौली), मो0 कमरेज (भलनी), मो0 जफीर, मो0 जुही मुखिया (भेरियाही), जावेद आलम, सदरे आलम, मो0 अबरार, मो0 निराला, मो0 अयुब, अब्दुर रउफ, सरफराज आलम, इमाम साहब, कारी साबिर हुसैन, महफुज आलम, बेलाल अहमद, नेयाज उर्फ बब्लु, मो0 सलाहुद्दीन, मो0 अनवर, अब्दुल मन्नान, शाहिद उर्फ कारी, जावेद करीम जफर अंसारी, महाराजा, मो0 असरार, मो0 मुन्ना, अब्दुल कयूम, मो0 नवाब, मो0 शाहिद, छोटु कुमार, शुभम कुमार समेत समस्त ग्रामीण भेरियाही ने बड़ी संख्या में दावत-ए-इफतार में हिस्सा लिया।
Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply