शिक्षा सफलता की कुंजी है जिसके बिना सफलता संभव नहीं… तकी उद्दीन अहमद

वजीह अहमद तसौवुर की रिपोर्ट ✍️
सहरसा…. विज़न इंटरनेशनल स्कूल का वार्षिक उत्सव कार्यक्रम आज पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया । इस अवसर पर स्कूल के प्रतिभागी छात्र – छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया और शिक्षा, समाजिक बुराइयों, महिला शिक्षा और बुजुर्गों के प्रति लापरवाही पर बच्चों ने शानदार झांकी और नाटक प्रस्तुत कर उपस्थित लोगों से खुब वाहवाही बटोरी। लोगों ने बच्चों के कार्यक्रम को काफी पसंद किया और शानदार प्रस्तुति की सराहना की । कार्यक्रम में पहले, दूसरे और तीसरे स्थान को प्राप्त करने वाले बच्चों को पदक और प्रमाण पत्र के साथ सम्मानित किया गया। इसके अलावा प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी छात्रों को भी मेडल देकर प्रोत्साहित किया गया। इस अवसर पर शहर के सम्मानित एवं विभिन्न क्षेत्रों के गणमान्य लोगों और अभिभावकों एवं सहरसा शहर व आसपास के लोगों ने बहुत बड़ी संख्या में भाग लिया।


इस अवसर पर कोशी क्षेत्र के शिक्षा उप निदेशक डा0 तकीउद्दीन अहमद ने कहा कि शिक्षा सफलता की कुंजी है लेकिन हम शिक्षा पर उतना ध्यान नहीं देते हैं जितना कि हमें शिक्षा के महत्व पर जोर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा से मानवता और सच्चाई के रास्ते की पहचान होती है और जो शिक्षा मानवता के लिए उपयोगी नहीं है, वह शिक्षा नहीं है। उन्होंने बिहार के शैक्षणिक संस्थानों की जमीनी सच्चाई को ब्यान करते हुए कहा कि हमारे शैक्षणिक संस्थानों की स्थिति संतोषजनक नहीं है।

आरडीडी तकीउद्दीन अहमद ने कहा कि शैक्षिक क्षेत्र की में मुसलमानों को एक दृष्टि और उद्देश्य के तहत आगे बढना चाहिए । विजन इंटरनेशनल स्कूल इस मामले में धन्यवाद का पात्र है क्योंकि यहां न केवल बच्चे की शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है, बल्कि यहां नैतिकता का पाठ भी पढाया जाता है।
इस अवसर पर युवा विद्वान और लेखक मौलाना नुर उस सलाम नदवी ने अपने भाषण में कहा कि इस्लाम धर्म धार्मिक और संसारिक शिक्षा में कोई अंतर नहीं करता है बल्कि जो शिक्षा मानवता के भले के लिए हो वह हासिल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि विजन अंतरराष्ट्रीय स्कूल इसका सबसे सरल उदाहरण है, जिसने सिर्फ एक वर्ष में विकास हासिल किया है। संस्थापक और विधालय टीम बधाई के पात्र हैं। आईम्मा मसाजिद के अध्यक्ष हाफ़िज़ मुमताज रहमानी ने कहा कि बच्चों के शानदार कार्यक्रम ने काफी प्रभावित किया जो यहां के व्यवस्थापक और शिक्षकों के कठिन परिश्रम का नतीजा है। हाफिज रहमानी ने कहा कि यह संस्था एक दीपक है जिसका प्रकाश क्षैतिज रूप से फैलेगा।
इससे पहले, स्कूल के संस्थापक और प्रबंध निदेशक शाहनवाज बदर कासमी ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि यह केवल अल्लाह की मेहरबानी है कि एक साल के भीतर संस्थान ने इतनी प्रगति की है कि हम आज वार्षिक समारोह मना रहे हैं। बच्चे हमारे भविष्य हैं। उन्होंने कहा कि इस विधालय को खोलने का मकसद धार्मिक शिक्षा और संसारिक शिक्षा के बीच मतभेद समाप्त करना है , हमारा मकसद है कि यहां से निकलने वाला बच्चा समाज के लिए मिसाली हो और साईंस के साथ साथ कुरान की शिक्षा देकर एक हुनरमंद इंसान बनाने का पूरा प्रयास है जो मानवता की सफलता का मुख्य अंश है। उन्होंने आगे कहा कि यदि आप हमें उसी तरह सहयोग करते रहेंगे तो इस संस्था को बिहार का प्रमुख संस्था में बना कर ही दम लेंगे। इस अवसर पर जदयू के युवा अध्यक्ष मोही-उद-दीन राईन ने कहा कि, विजन इंटरनेशनल के स्कूल के कार्यक्रम में शामिल होकर और बच्चों के शानदार प्रदर्शनी देख कर दिल खुश हो गया । वरिष्ठ पत्रकार और शिक्षाविद वजीह अहमद तसौवुर ने इस अवसर पर शिक्षा पर बल देते हुए कहा कि शिक्षा है तो सब संभव है बिना शिक्षा के कुछ भी संभव नहीं है। बी एन मंडल विश्वविद्यालय के सेनेट के सदस्य व जदयू नेता आनंदी मेहता, मौलाना इफ्तिखार नदवी दरभंगा, मदरसा इस्लाहु लबानात के व्यवस्थापक नजमुल होदा आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए।
छात्रों के सफल, मनोरंजक और चुनौतीपूर्ण काम को सफलता के शिखर पर पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले शिक्षकों ने अफ्फान कासमी, मुमताज आलम, कारी शमीम, उल्फत अरमा, रगबत आरमा , हुमेरा शमीम, सदफ जहां, नुसरत प्रवीन , रजी अहमद एवं इम्तियाज आलम को प्रतिकचिंह देकर उन्हें प्रोत्साहित किया गया। स्कूल के निदेशक नईम सिद्दीकी ने सभी अतिथियों का कार्यक्रम में भाग लेने धन्यवाद दिया। उनके धन्यवाद ज्ञापन एवं दुआ के साथ ही कार्यक्रम समाप्त हो गया।

Facebook Comments
Spread the love
  • 29
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    29
    Shares

Leave a Reply