एनपीआर-सीएए के खिलाफ विधानसभा से प्रस्ताव पारित करने की मांग को लेकर निकाला पैदल मार्च

 

*एनपीआर-सीएए के खिलाफ विधानसभा से प्रस्ताव पारित करने की मांग को लेकर निकाला पैदल मार्च।*

*दरभंगा यात्रा से पहले नीतीश कुमार काले कानून पर रोक लगाएं नहीं तो होगा 23 को विरोध- नजरे आलम*

*नीतीश कुमार अल्पसंख्यकों का वोट लेकर मोदी-शाह की भाषा बोल रहे हैं- बेदारी कारवां*

दरभंगा-( प्रेस विज्ञप्ति) /

एनआरसी-सीएए-एनपीआर के खिलाफ विधानसभा से प्रस्ताव पारित करने की मांग को लेकर आज संविधान बचाओ संघर्ष मोर्चा लालबाग सत्याग्रह कमिटी द्वारा लालबाग से कमिश्नरी तक पैदल मार्च निकाला गया।
मार्च की अध्यक्षता ऑल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवां के अध्यक्ष नजरे आलम, शकील अहमद सलफी, नेतृत्व सबा प्रवीण, नाजिया हसन, मोतिउर रहमान, ई0 फखरूद्दीन कमर, बदरूलहोदा खान, राजा खान, हीरा नेजामी, शाहिद अतहर, मो0 मुन्ना, सोनू मिकरानी, जीशान अख्तर, मो0 तालिब, शाहनवाज, अब्दुल्लाह, मो0 बशर, बदिउज्जमां आदी ने किया।

वहीं पोलो मैदान में सभा की संचालन इंजीनियर फखरूद्दीन ने किया। सभा को संबोधित करते हुए सबा प्रवीन ने कहा कि आज धरना के 35वां दिन लालबाग सत्याग्रह कमेटी के द्वारा नीतीश कुमार के 23 फरवरी के दरभंगा आगमन पर पैदल मार्च निकालकर उनको यह बतलाने का काम किया है कि नीतीश कुमार पहले आप बिहार विधानसभा से एनआरसी- सीएए-एनपीआर के खिलाफ प्रस्ताव पारित करें उसके बाद अपनी यात्रा को शुरू करें नहीं तो दरभंगा की जनता आपका विरोध करेगी।

वहीं ऑल इंडिया मुस्लिम केदारी कारवां के राष्ट्रीय अध्यक्ष नजरे आलम ने कहा कि नीतीश कुमार दरभंगा आगमन से पहले सीएए- एनआरसी – एनपीआर के खिलाफ विधानसभा के अंदर प्रस्ताव पारित करें अन्यथा 23 फरवरी को पूरे दरभंगा में उनका जगह-जगह विरोध किया जाएगा।

श्री आलम ने कहा कि बिहार के मुखिया मुस्लिमों का वोट लेकर अब मोदी-अमित शाह की भाषा बोल रहे है, और अपने नेता से भी बोलवा रहे है। जनता इसे बर्दाश्त नहीं करेगा।

उन्होंने स्थानीय मुस्लिम नेताओं पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आज जो मुस्लिम हितैषी की बात कर रहे हैं उन्होंने 35 साल तक मुस्लिम का वोट लेकर मुस्लिम के साथ गद्दारी करने का काम किया है। पहले नीतीश कुमार ऐसे गद्दार को अपनी पार्टी से निकाले, और वोट बैंक की राजनीति करना बंद करें नहीं तो आने वाले चुनाव में जनता वैसे-वैसे नेता को समाज से बाहर निकाल देगी।

श्री आलम ने कहा कि नीतीश कुमार आज तक मुसलमानों के लिए कुछ नहीं किया सिर्फ मुसलमानों का वोट लेकर मुसलमानों के साथ दगाबाजी करने का काम किया है। अब यह नहीं चलेगा जनता जागरूक हो चुकी है।

श्री आलम ने कहां के मुस्लिम योजनाओं के नाम पर लाखों लाख की लूट हो रही है। और जो नेता को उसका कमीशन मिलता है वही नेता मुस्लिम के योजनाओं का गुण गाते हैं।

श्री अलाम ने कहा कि बाप-बेटा दोनों को मुस्लिम समाज मुसलमान मानकर उनको जिताने का काम किया लेकिन इन दोनों बाप बेटा ने मुसलमान समाज का अपमान कर आरएसएस-भाजपा की गोद में जाकर बैठ गया है। और उसकी भाषा बोल रहा है। ऐसे दगाबाज नेता को दरभंगा की आम-आवाम में सबक सिखाने का काम किया।

वहीं भाकपा(माले) जिला सचिव बैद्यनाथ यादव, सीपीआई जिला सचिव नारायण जी झा, आइसा जिला अध्यक्ष प्रिंस राज, मयंक , एनएसयूआई नेता त्रिभुवन कुमार ने भी सभा में आकर अपनी एकजुटता जाहिर किया। और लड़ाई को मजबूत करने का आवाहन किया।

मार्च में भोला‌ भाई, सोना खान, लईक मंजर वाजदी समेत हजारों की संख्या में महिलाएं एवं पुरुषों ने हिस्सा लिया।

Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply