नियोजित शिक्षकों ने सहरसा में निकाला प्रतिरोध मार्च

वजीह अहमद तसौवुर के कलम से ✍️
बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समंवय समिति के आव्हान पर आज बिहार के सभी जिला मुख्यालयों पर आक्रोश पूर्ण प्रतिरोध मार्च निकाला गया जिसमें बड़ी संख्या में शिक्षकों ने भाग लेकर अपनी मांगों के हक में नारेबाजी की और जिलाधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम मांगों का ज्ञापन सौंपा।

इसी सिलसिले में आज सहरसा में भी हजारों की संख्या में नियोजित शिक्षकों का काफिला श्री निरंजन कुमार के नेतृत्व में जिला परिषद कार्यालय से निकल कर समाहरणालय पहुंचा। समान काम का समान वेतन, गिरफ्तार शिक्षक साथियों की बिना शर्त रिहाई, फर्जी मुकदमे वापस लेने समेत अनेक मांगों का ज्ञापन सौंपा।
बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समंवय समिति के सदस्य श्री निरंजन कुमार ने कहा कि शिक्षकों ने हमेशा अपने कर्तव्यों का पालन ईमानदारी से किया और करते आ रहे हैं मगर सरकार दोहरी नीति कर भेदभाव के द्वारा नियोजित शिक्षकों का शोषण कर रही है इसलिए जब तक मांग नहीं मानी जाती है शिक्षक अपना संघर्ष जारी रखेंगे। लोकतंत्र ने जो धरना प्रदर्शन रूपी हथियार दिया है शिक्षक उस के दम पर अपनी मांगों को लेकर छोड़ेंगे। निरंजन कुमार ने कहा कि आज के प्रतिरोध मार्च की सबसे बड़ी सफलता यह रही कि हमारे जेल के साथी को जमानत मिल गई। आगे की भी जो रणनीति राज्य स्तर पर बनेगी उसका पूरा समर्थन हमलोग करेंगे। इस अवसर पर समंवय समिति में शामिल विभिन्न संघों के नेता भी शामिल रहे।

Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply