मध्य विद्यालय रंगीनियाँ में शिक्षा दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया

वजीह अहमद तसौवुर ✍️

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के अवसर पर देश के महान स्वतंत्रता सैनानी एवं भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद की जयंती सिमरीबख्तियारपुर नगर क्षेत्र के मध्य विद्यालय रंगीनियाँ में सम्मान पूर्वक मनाया गया।

 

   इस अवसर पर प्रधानाध्यापक श्री महेश कुमार सिंह के नेतृत्व में बच्चों ने प्रभात फेरी निकाल कर मौलाना आजाद अमर रहे और आज क्या है शिक्षा दिवस जैसे नारे लगाते हुए पोशक क्षेत्र का भ्रमण किया। उसके बाद समारोह का आयोजन किया गया जिसमें मौलाना आजाद के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
इस अवसर पर वजीह अहमद तसौवुर ने देश की आजादी और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान चर्चा करते हुए कहा कि स्वतंत्रता की लड़ाई में उका योगदान हमेशा सुनहरे अक्षरों में लिखा जायेगा। उनकी काबिलियत और सलाहियत को देखते हुए 1923 में  इंडियन नेशनल कांग्रेस के सबसे युवा अध्यक्ष बनने का गौरव प्राप्त किया। देश को आईआईटी, आईआईएम, यू जी सी, साहित्य अकादमी, संगीत नाटक अकादमी देने वाले मौलाना आजाद ने 14 वर्ष तक के सभी बच्चों को निशुल्क शिक्षा, लड़कियों की शिक्षा, व्यवसायिक शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा की वकालत की जिस रास्ते पर शिक्षा विभाग अग्रसर है।
    गांधी जी के तीन सबसे प्रिय व चहेते चेलों में चाचा नेहरू, सरदार पटेल और मौलाना आजाद शामिल थे।
 पुष्पांजलि अर्पित करने वालों में प्रधानाध्यापक श्री महेश कुमार सिंह, राजकिशोर राउत, विनोद कुमार शर्मा,  दिवाकर भाष्कर,  शिव शक्ति कुमार, वजीह अहमद तसौवुर, दीलीप कुमार, नजराना खातुन, दीपक कुमार, लक्ष्मी कुमारी, चन्द्र किरण कुमारी, राजीव कुमार, शाहिदा प्रवीन, कमाल उददीन शाह आदि शामिल थे।
Facebook Comments
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply